गैजेट Xiaomi का इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर वाला पहला स्मार्टफोन लॉन्च,...

Xiaomi का इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर वाला पहला स्मार्टफोन लॉन्च, फीचर्स जानकार तुरंत हो जायेंगे खरीदने को तैयार

-

नई दिल्ली। Xiaomi मोबाइल फ़ोन की दुनिया में एक मुकाम हासिल कर चुकी है। इसी के तहत Xiaomi Mi 8 Youth Edition और  Mi 8 स्क्रीन फिंगरप्रिंट एडिशन को चीन में लॉन्च कर दिया गया है। यूथ एडिशन फ्लैगशिप Mi 8 का ही डाउनग्रेडेड वर्जन है और इसकी कीमत भी आधी है।

- Advertisement -

फ़ोन

वहीं स्क्रीन फिंगरप्रिंट एडिशन स्पेसिफिकेशन के मामले में Mi 8 से मिलता जुलता है, हालांकि इसमें प्रेशर सेंसिटिव इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है।

कीमत

कीमतों की बात करें तो Xiaomi Mi 8 Youth Edition के 4GB रैम और 64GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत CNY 1,399 (लगभग 14,800 रुपये), 6GB रैम और 64GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत CNY 1,699 (लगभग 18,000 रुपये) और टॉप  6GB रैम/ 128GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत CNY 1,999 (लगभग 21,200 रुपये) रखी गई है। इस स्मार्टफोन को तीन ग्रेडिएंट कलर ऑप्शन में सेल किया जाएगा।

वहीँ दूसरी तरफ Xiaomi Mi 8 Screen Fingerprint Edition की कीमतों की बात करें तो इसके 6GB रैम और 128GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत CNY 3,599 (लगभग 38,200 रुपये) और 8GB रैम/ 128GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत CNY 3,599 (लगभग 38,200 रुपये) तक रखी गई है।

स्पेसिफिकेशन्स

डुअल-सिम सपोर्ट वाला Xiaomi Mi 8 यूथ एडिशन एंड्रॉयड बेस्ड MIUI पर चलता है और इसमें 6।26-इंच LCD पैनल दिया गया है। इस स्मार्टफोन में  4GB / 6GB रैम और 64GB/ 128GB स्टोरेज के साथ क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 660 AIE प्रोसेसर दिया गया है।

फोटोग्राफी के सेक्शन की बात करें तो  Mi 8 Youth Edition के रियर में डुअल कैमरा सेटअप दिया गया है। इसका प्राइमरी कैमरा 12 मेगापिक्सल का है वहीं सेकेंडरी कैमरा 5 मेगापिक्सल का है।

यहां AI फीचर्स भी यूजर्स को मिलेंगे। वहीं फ्रंट कैमरे की बात करें तो यहां भी AI फीचर्स से लैस 24 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है। इसकी बैटरी 3,350mAh की है। इसमें क्वॉलकॉम क्विक चार्ज 3।0 का सपोर्ट भी दिया गया है। इसके फ्रंट कैमरे में ही फेस अनलॉक के फंक्शन्स दिए गए हैं और फिंगरप्रिंट सेंसर बैक में दिया गया है। साथ ही इसमें ब्लूटूथ v5।0 का सपोर्ट भी मौजूद है।

वहीं, दूसरी तरफ Xiaomi Mi 8 Screen Fingerprint Edition में इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है। जबकि Mi 8 के रियर में फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया था। दूसरे स्पेसिफिकेसन्स की बात करें तो इसमें स्नैपड्रैगन 845 प्रोसेसर, 128GB तक इंटरनल स्टोरेज और डुअल 12 मेगापिक्सल कैमरा और डुअल फ्रिक्वेंसी GPS मौजूद है।

- Advertisement -

Latest news

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।

महामारी से निपटने के लिए देश में तैयार किए जाएंगे एक लाख ‘कोरोना योद्धा’

कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए सरकार एक लाख से अधिक कोरोना योद्धा तैयार करेगी।...

जानिए किस आधार पर जारी होंगे 12वीं के परिणाम, क्या है सीबीएसई का 30-20-50 का फार्मूला

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के लिए बिना परीक्षा के 12वीं के परिणाम को जारी करना एक बड़ी चुनौती...
- Advertisement -

जानिए कोरोना की दूसरी लहर से इकोनाॅमी को हुआ कितना नुकसान, क्या है आरबीआई की रिपोर्ट

कोरोना की दूसरी लहर से देश की इकोनाॅमी को चालू वित्त वर्ष के दौरान अब तक दो लाख करोड़...

देश में वैक्सीन से पहली मौत की पुष्टि, क्या सच में घातक है कोरोना वैक्सीन

कोरोना वैक्सीन टीके के दुष्प्रभाव का अध्ययन कर रही सरकार की एक समिति ने टीकाकरण के बाद एनाफिलेक्सिस (जानलेवा...

Must read

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।

You might also likeRELATED
Recommended to you