गांव कनेक्शन शीतल दवनी के युवाओं ने ग्रामप्रधान को दिखाया आईना

शीतल दवनी के युवाओं ने ग्रामप्रधान को दिखाया आईना

-

- Advertisement -

बलिया,

बलिया,ग्रामसभा शीतल दवनी के युवाओं ने ग्राम प्रधान को आईना दिखाते हुए आत्मनिर्भर तरीके से खुद गांव को सेनेटाइज कर डाला।
शीतल दवनी निवासी मुकेश कुमार सिंह उर्फ डूलडूल ने बताया कि गांव के प्रधान श्री विजय बहादुर सिंह इस महामारी में गांव को भगवान भरोसे छोड़ दिये है,और जो भी प्रधान आज तक मेरे होश में हुए सब लोगो ने गांव के साथ छल ही किया,आज तक कोई भी प्रधान जनता के साथ पारदर्शिता नही बरती,प्रधान जी गांव में चुनिंदा एक दो जगह बैठते है तथा उसी जगह तक उनका सीमित कार्य क्षेत्र है।
मुकेश सिंह ने यह भी कहा कि प्रधान के समर्थक गण जो उनको विजयी बनाने हेतु पूरा चुनाव अपील कर रहे थे वह लोग भी प्रधान के कृत्य पर मौन बने है,और एक नया फार्मूला बनाये की हम खुद चुनाव लड़ के गांव का विकाश करके प्रधान को आईना दिखाएंगे,अब यह सोचने वाली बात है कि जो वर्तमान प्रधान के किये गए गड़बड़ी का विरोध नही कर सकता वह चुनाव जीत कर क्या विकाश करेगा।
मुकेश सिंह ने यह भी कहा कि किसी भी पूर्व प्रधान को चुनाव नही लड़ना चाहिए,और ईमानदार युवाओं को मौका मिलना चाहिए।
मीडिया प्रभारी द्वारा पूछने पर की क्या आने वाले चुनाव में आप खुद ग्रामप्रधान पद के प्रत्यासी है तो उन्होंने साफ मना कर दिया और बोले कि बहुत ईमानदार संस्कारी युवा है उनको भी परखना चाहिए।
गांव की गंदगी के बारे मे अवगत कराएं की गांव में सफाईकर्मियों के रहते लोहाटोली में ठेले पर कचड़े का अंबार लगा है कोई देखने वाला नही हैं ,महामारी में हर गांव के समाजसेवी खुद छिडक़ाव करा रहे है और मेरे गांव के प्रधान जी गमकसीन के घोल का छिड़काव करा रहे है।
जिससे नाराज होकर मुकेश कुमार सिंह ने गावं के युवाओं से आग्रह करके गांव के युवावर्ग से मिलकर आत्मनिर्भर रूप से अच्छे क्वालिटी के सेनेटाइजर से समस्त गांव में छिडक़ाव करा दिये और बोले कि फिर पांच दिन बाद छिड़काव कराया जाएगा।

जिसमे मुख्यरूप से दिऊली इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य
डा विश्वरंजन सिंह, संजय सिंह उर्फ बुधन, पूजन सिंह छोटू, डिंपू सिंह, आनंद विक्रम सिंह, प्रभात सिंह, चंद्र प्रकाश सिंह, भोला सिंह, बच्चा सिंह, सनी सिंह, अनूप सिंह उर्फ मिंटू , अंकित सिंह उर्फ पंकि , निखिल सिंह, अखिल सिंह, अमन सिंह, मृगेंद्र सिंह, दीपक सिंह, रणवीर सिंह, ,बलबीर सिंह, पवन सिंह उर्फ पिंकू, संजय सिंह मालिक, राजा सिंह, बलदाऊ सिंह गोलू, अंशु पटेल, जितेंद्र पटेल, शंभू वर्मा, राहुल गुप्ता, मन्नी सिंह, चिंटू ठाकुर, व शंभू यादव आदि लोग ने भूमिका निभाया।

- Advertisement -

Latest news

समाजवादी पार्टी ने जारी किया घोषणा पत्र, रोजगार, शिक्षा और किसानों के विकास के साथ अहम मुद्दा…

2027 तक दो करोड़ रोजगार का सृजन किया जाएगा। 2025 तक सभी किसानो को कर्जा मुक्त किया जाएगा, साथ ही सभी दो पहिया मालिकों के लिए 1 लीटर और चार पहिया मालिकों के लिए 3 लीटर मुफ्त पेट्रोल देने का भी वादा किया है।

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।
- Advertisement -

महामारी से निपटने के लिए देश में तैयार किए जाएंगे एक लाख ‘कोरोना योद्धा’

कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए सरकार एक लाख से अधिक कोरोना योद्धा तैयार करेगी।...

जानिए किस आधार पर जारी होंगे 12वीं के परिणाम, क्या है सीबीएसई का 30-20-50 का फार्मूला

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के लिए बिना परीक्षा के 12वीं के परिणाम को जारी करना एक बड़ी चुनौती...

Must read

समाजवादी पार्टी ने जारी किया घोषणा पत्र, रोजगार, शिक्षा और किसानों के विकास के साथ अहम मुद्दा…

2027 तक दो करोड़ रोजगार का सृजन किया जाएगा। 2025 तक सभी किसानो को कर्जा मुक्त किया जाएगा, साथ ही सभी दो पहिया मालिकों के लिए 1 लीटर और चार पहिया मालिकों के लिए 3 लीटर मुफ्त पेट्रोल देने का भी वादा किया है।

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

You might also likeRELATED
Recommended to you