चर्चा में राहुल गांधी ने साफ़ कर दिया कि ‘रानी’ के...

राहुल गांधी ने साफ़ कर दिया कि ‘रानी’ के रणबांकुरों को टक्कर देने मैदान में उतरेंगे ये योद्धा!

-

अमित विक्रम शुक्ला

- Advertisement -

जयपुर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगामी लोकसभा के लिए ज़ोरदार शंखनाद कर दिया है। इसी के चलते आजकल उनके निशाने पर देश के प्रधानसेवक नरेन्द्र मोदी लगातार रह रहे हैं। या यूँ कहें कि राहुल गांधी ने मोदी को चारो खाने चित्त करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

राहुल गांधी

चाहे उसके लिए उनको रोड शो के दौरान बस से उतर कर चाय की दुकान की चुस्कियां ही क्यों न लेनी पड़े। जोकि मौजूदा सियासी दौर में बहुत ही जरुरी हो चला है।

इसी सिलसिले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को मेवाड़ के डुंगरपुर में सागवाड़ा पहुंचे। यहां उन्होंने जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस का कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ है।

ये कार्यकर्ता लाठी खाता है। डंडे खाता है। लेकिन बाद में कोई नेता पैराशूट से आकर टिकट ले जाता है। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस का कार्यकर्ता तय करेगा कि उम्मीदवार कौन होगा और इस पैराशूट को काटने का काम मैं खुद करूंगा।

राफेल मुद्दा नहीं भूले!

राफेल विमान सौदे के मामले में मोदी सरकार पर हमला करते हुए राहुल ने कहा कि 126 हवाई जहाज खरीदने के लिए यूपीए सरकार ने 526 करोड़ रुपये में एक हवाई जहाज खरीदना तय किया। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए कांट्रैक्ट में 1600 करोड़ रुपये का रेट रखा।

उन्होंने आरोप लगाया कि अनिल अंबानी ने अपनी पूरी जिंदगी में हवाई जहाज नहीं बनाया, मगर मोदी जी ने रक्षा मंत्री से बिना पूछे अनिल अंबानी को कांट्रैक्ट दे दिया।

बता दें डेढ़ महीने में राहुल गांधी का यह दूसरी बार राजस्थान का दौरा है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज मेवाड़ में प्रधानमंत्री वसुंधरा राजे और राजस्थान सरकार पर जमकर बरसे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि गली-गली में शोर है देश का चौकीदार चोर है।

बार-बार इस नारे को दोहराया राहुल गांधी ने और भीड़ भी इस नारे को दोहराने लगी। राहुल गांधी ने राफेल डील को बताते हुए यह नारा लगाया और जनता के बीच एक बार फिर से राफेल डील को समझाया।

उल्लेखनीय है कि सागवाड़ा की रैली कांग्रेस के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले चुनाव में मेवाड़ से कांग्रेस का पत्ता साफ हो गया था, यह आदिवासी बहुल इलाका है जहां पर कांग्रेस हमेशा से मजबूत रही है। कांग्रेस की सभा में आई भीड़ को देखकर कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता काफी उत्साहित थे।

माल्या का ज़िक्र, घेरे में जेटली!

राहुल गांधी ने विजय माल्या के मामले पर कहा कि 9000 करोड़ रुपए का चोर देश के वित्त मंत्री से यह कह कर गया कि मैं जा रहा हूं। यह मैं नहीं कह रहा हूं खुद अरुण जेटली कह रहे हैं कि माल्या मुझसे मिलकर गया है, लेकिन देश का चौकीदार इस पर मौन है।

राहुल गांधी ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनी तो किसानों के कर्ज माफ होंगे और लोगों को रोजगार मिलेगा। राहुल गांधी ने कहा कि वह लोगों से झूठ नहीं बोलेंगे कि उनके खातों में 15 लाख डालेंगे।

वही बोलने आए हैं जो कर सकते हैं। राहुल गांधी ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी अपने 5-10 अमीर मित्रों के लिए बुलेट ट्रेन लेकर आ रहे हैं , बुलेट ट्रेन में जितना पैसा खर्च किया जा रहा है उसके आगे से आधे पैसे में राजस्थान के किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा।

राहुल गांधी ने कहा कि इस बार राजस्थान की जनता यह तय कर चुकी है कि कांग्रेस को जीताना है। खैर जीत-हार तो कुछ महीने बाद परिणाम स्वरुप सामने आ ही जाएगी। लेकिन तब तक यह सियासी बयानबाजी तो चलती ही रहेगी।

- Advertisement -

Latest news

समाजवादी पार्टी ने जारी किया घोषणा पत्र, रोजगार, शिक्षा और किसानों के विकास के साथ अहम मुद्दा…

2027 तक दो करोड़ रोजगार का सृजन किया जाएगा। 2025 तक सभी किसानो को कर्जा मुक्त किया जाएगा, साथ ही सभी दो पहिया मालिकों के लिए 1 लीटर और चार पहिया मालिकों के लिए 3 लीटर मुफ्त पेट्रोल देने का भी वादा किया है।

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।
- Advertisement -

महामारी से निपटने के लिए देश में तैयार किए जाएंगे एक लाख ‘कोरोना योद्धा’

कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए सरकार एक लाख से अधिक कोरोना योद्धा तैयार करेगी।...

जानिए किस आधार पर जारी होंगे 12वीं के परिणाम, क्या है सीबीएसई का 30-20-50 का फार्मूला

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के लिए बिना परीक्षा के 12वीं के परिणाम को जारी करना एक बड़ी चुनौती...

Must read

समाजवादी पार्टी ने जारी किया घोषणा पत्र, रोजगार, शिक्षा और किसानों के विकास के साथ अहम मुद्दा…

2027 तक दो करोड़ रोजगार का सृजन किया जाएगा। 2025 तक सभी किसानो को कर्जा मुक्त किया जाएगा, साथ ही सभी दो पहिया मालिकों के लिए 1 लीटर और चार पहिया मालिकों के लिए 3 लीटर मुफ्त पेट्रोल देने का भी वादा किया है।

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

You might also likeRELATED
Recommended to you