चर्चा में मुख्यमंत्री आवास के पास डबल मर्डर से दहला लखनऊ

मुख्यमंत्री आवास के पास डबल मर्डर से दहला लखनऊ

-

यूपी की कानून-व्यवस्था लगातार बेपटरी होती जा रही है, अपराध का बोलबाला बढ़ता ही जा रहा है। ताजा मामला राजधानी लखनऊ का है जहां मुख्यमंत्री आवास से चंद कदम दूरी पर डबल मर्डर से सनसनी फैल गई है। राजधानी लखनऊ में हाई सिक्योरिटी जोन में डबल मर्डर से पुलिस महकमे में खलबली मच गई है।

- Advertisement -

सीएम योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग से चंद कदम की दूरी पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आवास के सामने विक्रमादित्य मार्ग पर रेलवे कालोनी में रेलवे अधिकारी आरडी बाजपेई की पत्नी और बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। डबल मर्डर की सूचना पर लखनऊ पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय फोर्स के साथ मौके पर हैं।

लखनऊ में भारतीय रेलवे सेवा के बड़े अधिकारी आरडी वाजपेयी की पत्नी और बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। यह घटना राजधानी के अति सुरक्षित गौतमपल्ली इलाके में उनके सरकारी आवास पर हुई है। अपराधियों ने घर में घुसकर गोली मार दी।

- Advertisement -

Latest news

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।

महामारी से निपटने के लिए देश में तैयार किए जाएंगे एक लाख ‘कोरोना योद्धा’

कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए सरकार एक लाख से अधिक कोरोना योद्धा तैयार करेगी।...
- Advertisement -

जानिए किस आधार पर जारी होंगे 12वीं के परिणाम, क्या है सीबीएसई का 30-20-50 का फार्मूला

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के लिए बिना परीक्षा के 12वीं के परिणाम को जारी करना एक बड़ी चुनौती...

जानिए कोरोना की दूसरी लहर से इकोनाॅमी को हुआ कितना नुकसान, क्या है आरबीआई की रिपोर्ट

कोरोना की दूसरी लहर से देश की इकोनाॅमी को चालू वित्त वर्ष के दौरान अब तक दो लाख करोड़...

Must read

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

You might also likeRELATED
Recommended to you