चर्चा में सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने की तिथि बढ़ाकर...

सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने की तिथि बढ़ाकर वित्त वर्ष 18-19 से 30 जून कर दी

-

भारत सरकार ने वित्त वर्ष 18-19 के लिए आयकर रिटर्न भरने की तिथि बढ़ाकर 30 जून कर दी है।
आवश्यक जानकारी:
1-राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को कोरोनोवायरस के खतरे को अधिक गंभीरता से लेना चाहिए था। कोरोनोवायरस के प्रकोप पर राहुल गांधी ने कहा, सरकार को खतरे को और अधिक गंभीरता से लेना चाहिए।
2-24 घंटे में दिल्ली में कोई नया कोविद -19 मामला नहीं, सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि पिछले 24 घंटों में राष्ट्रीय राजधानी में कोई नया कोरोनोवायरस मामला सामने नहीं आया है और अब सबसे बड़ी चुनौती स्थिति को नियंत्रण से बाहर नहीं जाने देना है।
3-कोरोनोवायरस पर रात 8 बजे राष्ट्र को संबोधित करते पीएम मोदी। COVID-19 के खतरे से संबंधित महत्वपूर्ण पहलुओं पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज, 24 मार्च, 2020 को रात्रि 8 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे।
4-वुहान सहित हुबेई प्रांत पर यात्रा प्रतिबंध हटाने के लिए चीन स्थानीय अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि चीन का केंद्रीय हुबेई प्रांत, जहां पिछले साल के अंत में घातक कोरोनोवायरस पहली बार उभरा था, को दो महीने के बाद यात्रा पर अंकुश लगाना है।
सार्वजनिक सुरक्षा कानून के तहत पूर्व जम्मू-कश्मीर के सीएम उमर अब्दुल्ला का पता निरस्त हुआ।

- Advertisement -

5- जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला की जन सुरक्षा अधिनियम के तहत हिरासत रद्द कर दी गई है।
6-शुरुआती सत्र में सेंसेक्स 1,200 अंक से अधिक चढ़ चुका है। इस बीच निफ्टी 8,000 अंक पर आ गया।
7-दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग विरोध स्थल को खाली कराया, प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया। कोरोनोवायरस के प्रकोप के कारण दिल्ली में तालाबंदी के बाद, दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों से इस स्थल को खाली करने के लिए कहा। पुलिस ने कहा कि इनकार करने के बाद उन्होंने उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की और विरोध स्थल को साफ़ कर दिया गया।
8-मुख्यभूमि चीन ने नए कोरोनोवायरस मामलों में एक दोहरीकरण देखा, जो विदेशों से घर लौट रहे संक्रमित यात्रियों में कूद गया था, जिससे चीनी शहरों और प्रांतों में संक्रमण का खतरा बढ़ गया था, जिन्होंने हाल के दिनों में कोई नया संक्रमण नहीं देखा था। चीन में सोमवार को 78 नए मामले आए थे, राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा, रविवार से दो गुना वृद्धि। नए मामलों में से, 74 आयातित संक्रमण थे, एक दिन पहले 39 आयातित मामलों से।

- Advertisement -

Latest news

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।

महामारी से निपटने के लिए देश में तैयार किए जाएंगे एक लाख ‘कोरोना योद्धा’

कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए सरकार एक लाख से अधिक कोरोना योद्धा तैयार करेगी।...

जानिए किस आधार पर जारी होंगे 12वीं के परिणाम, क्या है सीबीएसई का 30-20-50 का फार्मूला

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के लिए बिना परीक्षा के 12वीं के परिणाम को जारी करना एक बड़ी चुनौती...
- Advertisement -

जानिए कोरोना की दूसरी लहर से इकोनाॅमी को हुआ कितना नुकसान, क्या है आरबीआई की रिपोर्ट

कोरोना की दूसरी लहर से देश की इकोनाॅमी को चालू वित्त वर्ष के दौरान अब तक दो लाख करोड़...

देश में वैक्सीन से पहली मौत की पुष्टि, क्या सच में घातक है कोरोना वैक्सीन

कोरोना वैक्सीन टीके के दुष्प्रभाव का अध्ययन कर रही सरकार की एक समिति ने टीकाकरण के बाद एनाफिलेक्सिस (जानलेवा...

Must read

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।

You might also likeRELATED
Recommended to you