गैजेट

Swiggy, Zomato और भारत में किराने का सामान देने वाले अन्य ऐप: जो कुछ भी आपको जानना चाहिए

Swiggy, Zomato और भारत में किराने का सामान देने वाले अन्य ऐप: जो कुछ भी आपको जानना चाहिए कोरोना के समय में अपने दैनिक आवश्यक...

व्हाट्सएप की नई विशेषताएं: संदेश गायब होने से लेकर मल्टी-डिवाइस सपोर्ट तक, सभी सुविधाएं जल्द ही

अपने उपयोगकर्ताओं के लिए बहु-प्रतीक्षित डार्क मोड सुविधा का अनावरण करने के बाद, व्हाट्सएप एक बार फिर आने वाले दिनों में एक नए फीचर...

पोको फोन अब महंगे: जीएसटी बढ़ने के बाद यहां सभी नई कीमतें हैं

भारत सरकार ने स्मार्टफोन पर जीएसटी दर बढ़ा दी है और इसके परिणामस्वरूप, भारत में फोन पहले की तुलना में अधिक महंगे हैं। 1...

Xiaomi का इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर वाला पहला स्मार्टफोन लॉन्च, फीचर्स जानकार तुरंत हो जायेंगे खरीदने को तैयार

नई दिल्ली। Xiaomi मोबाइल फ़ोन की दुनिया में एक मुकाम हासिल कर चुकी है। इसी के तहत Xiaomi Mi 8 Youth Edition और  Mi...

Latest news

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

कोविड से मरने वालों के सरकारी आंकड़ो को आईना दिखाती, बीबीसी की विशेष पड़ताल

मुराद बानाजी ने बीबीसी से कहा कि वो ये मानते हैं कि देश भर में कोरोना की मौतें कम-से-कम पांच गुना कम करके बताई गईं।

Must read

विवादित कृषि कानूनों की वापसी, ह्रदय परिवर्तन या यूपी इलेक्शन चुनाव को तैयारी

सरकार तीनो किसान कानूनो को वापस लेने के एक ही विधेयक पारित कर सकती है। बताया जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विधेयक को पारित किया जा सकता है। बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में “टू चाइल्ड पॉलिसी” चुनावी स्टंट या वक्त की मांग

मसौदे में इस बात पर सिफारिश की गई है कि दो बच्चों की नीति का उल्लंघन करने वालों को स्थानीय निकायों के चुनाव में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देना, सरकारी नौकरी में आवेदन करने और प्रमोशन पर रोक लगाने जैसे मांग उठाना। साथ ही ये सुनिश्चित करना कि ऐसे लोगों को सरकार की ओर से मिलने वाले किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए मौजूद है।

You might also likeRELATED
Recommended to you

‘जश्न-ए-गज़ल’ में सजेगी राहत इंदौरी की महफिल, नवाबों के शहर में होगी गज़लों की रूहानियत शाम

गोमती नगर स्थित ‘जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ऑडिटोरियम’ में ‘जश्न-ए-गज़ल’ में अपनी गजलें पेश कारेंगे।